#mahadev

Posts tagged on #mahadev

Top Posts Recent Posts

Top Posts

Karwa Chauth is a Hindu festival mostly celebrated in Northern India during which married women fast from sunrise till the moon comes out. Unmarried women also observe a fast for finding their prospective grooms.

The women consume a meal before dawn, called sargi and then only eat and drink after they see the moon at night. Women mostly keep a ‘nirjala’ fast, meaning that they fast without any water consumption too from sunrise till moonrise. Going by the Hindu lunisolar calendar, it is on the fourth day after the moon in the month of Kartik that Karwa Chauth is observed. Although women fast during this time period, food is an important part of this day. The practice of eating sargi in the morning is important. It is common practice for mother-in-laws to prepare a thali of sargi for their daughters-in-law. The thali comprises foods that provide enough energy for the long day ahead and are filling. 
Karwa Chauth is an auspicious occasion when married women pray to Lord Shiva and Goddess Parvati so that their husband has a long life. They dress up in ethnic wear and apply sindoor and wear jewellery. Before sunset, they come together in a group and read the vrat katha.

Pc: @nidtoons
✨👁🌷📿🕉🔱🐍🐚🔆🌀🌸🌙⌛️💀🌿🔔🎨🙏✨ Jai Shiv Shambhu ~ Om Namah Shivaya 🙏🏻🕉🙏🏻 💥🎆🎄☄⛳
#shiv #shankar #shambhu #shiva #mahadev #mahakal #harharmahadev #omnamahshivaya #blessings #happiness #peace #spiritual #love #devotion #positivity #goodvibes #freedom #life #krishna #radha #radhekrishna.

Karwa Chauth is a Hindu festival mostly celebrated in Northern India during which married women fast from sunrise till the moon comes out. Unmarried women also observe a fast for finding their prospective grooms. The women consume a meal before dawn, called sargi and then only eat and drink after they see the moon at night. Women mostly keep a ‘nirjala’ fast, meaning that they fast without any water consumption too from sunrise till moonrise. Going by the Hindu lunisolar calendar, it is on the fourth day after the moon in the month of Kartik that Karwa Chauth is observed. Although women fast during this time period, food is an important part of this day. The practice of eating sargi in the morning is important. It is common practice for mother-in-laws to prepare a thali of sargi for their daughters-in-law. The thali comprises foods that provide enough energy for the long day ahead and are filling. Karwa Chauth is an auspicious occasion when married women pray to Lord Shiva and Goddess Parvati so that their husband has a long life. They dress up in ethnic wear and apply sindoor and wear jewellery. Before sunset, they come together in a group and read the vrat katha. Pc: @nidtoons ✨👁🌷📿🕉🔱🐍🐚🔆🌀🌸🌙⌛️💀🌿🔔🎨🙏✨ Jai Shiv Shambhu ~ Om Namah Shivaya 🙏🏻🕉🙏🏻 💥🎆🎄☄⛳ #shiv #shankar #shambhu #shiva #mahadev #mahakal #harharmahadev #omnamahshivaya #blessings #happiness #peace #spiritual #love #devotion #positivity #goodvibes #freedom #life #krishna #radha #radhekrishna ...

मेरे मन में शंकरा भोलेनाथ शंकरा तू बसा है उस तरह हे शिवाय शंकरा 🙏🏼🔱
..
Singer @agam_onlogic ❤
Pic By @uttarakhandwale ❤
...
#mahakal #mahadev #shiva #harharmahadev #bholenath #shiv #bhole #bholebaba #mahakaleshwar #om #har #india #ujjain #aghori #lordshiva #jaimahakal #omnamahshivaya #mahakaal  #aghori_gram #kedarnath #kedarnathtemple ❤.

मेरे मन में शंकरा भोलेनाथ शंकरा तू बसा है उस तरह हे शिवाय शंकरा 🙏🏼🔱 .. Singer @agam_onlogic ❤ Pic By @uttarakhandwale ❤ ... #mahakal #mahadev #shiva #harharmahadev #bholenath #shiv #bhole #bholebaba #mahakaleshwar #om #har #india #ujjain #aghori #lordshiva #jaimahakal #omnamahshivaya #mahakaal   #aghori_gram #kedarnath #kedarnathtemple ❤ ...

अगर किसी एक व्यक्ति में इस सृष्टि की सारी विशेषताओं का जटिल मिश्रण मिलता है तो वह शिव हैं। अगर आपने शिव को स्वीकार कर लिया तो आप जीवन से परे जा सकते हैं।
शिव खुद जीवन हैं। कोई भी चीज उनमें घृणा नहीं पैदा कर सकती। वह हर चीज को, सबको अपनाते हैं। ऐसा वह किसी सहानुभूति, करुणा या भावनाओं के चलते नहीं करते, जैसा कि आप सोचते होंगे। वे सहज रूप से ऐसा करते हैं, क्योंकि वो जीवन की तरह हैं। जीवन सहज ही हरेक को गले लगाता व अपनाता है।समस्या सिर्फ आपके साथ है कि आप किसे अपनाएं व किसे छोड़ें और यह समस्या मानसिक समस्या है, न कि जीवन से जुड़ी समस्या। यहां तक कि अगर आपका दुश्मन भी आपके बगल में बैठा है तो आपके भीतर मौजूद जीवन को उससे भी कोई दिक्कत नहीं होगी। आपका दुश्मन जो सांस छोड़ता है, उसे आप लेते हैं। आपके दोस्त द्वारा छोड़ी गई सांसें आपके दुश्मन द्वारा छोड़ी गई सांसों से बेहतर नहीं होती है। दिक्कत सिर्फ मानसिक या कहें मनोवैज्ञानिक स्तर पर है। अस्तित्व के स्तर पर देखा जाए तो कोई समस्या नहीं है।
अघोरी शिव - प्रेम और करुणा से भी परे
एक अघोरी कभी भी प्रेम की अवस्था में नहीं रहता है। दुनिया के इस हिस्से की आध्यात्मिक प्रक्रिया ने कभी भी आपको प्रेम करना, दयालु या करुणामय होना नहीं सिखाया। यहां इन भावों को आध्यात्मिक नहीं, बल्कि सामाजिक माना जाता है। दयालु होना और अपने आसपास के लोगों को देखकर मुस्कुराना, पारिवारिक व सामाजिक शिष्टाचार है। एक इंसान में इतनी समझ तो होनी ही चाहिए, इसलिए यहां किसी ने सोचा ही नहीं कि ये चीजें भी सिखानी जरूरी हैं।एक अघोरी जब इस अस्तित्व को अपनाता है तो वह उससे प्रेम के चलते नहीं अपनाता, वह इतना सतही या कहें उथला नहीं है, बल्कि वह जीवन को अपनाता है। वह अपने भोजन और मल को एक ही तरह से देखता है। उसके लिए जिंदा और मरे हुए शरीर में कोई अंतर नहीं है। वह एक सजी संवरी देह और व्यक्ति को उसी भाव से देखता है, जैसे एक सड़े हुए शरीर को। इसकी सीधी सी वजह है कि वह पूरी तरह से जीवन बन जाना चाहता है। वह अपनी दिमागी या मानसिक सोचों के जाल में नहीं फंसना चाहता।
PC: @byshounak
Jai shiv shambhu ✨❤️👁🐂🕉📿🌸🏯🌀💖🗿🌷🙏🏻✨
#shiv #shankar #shambhu #shiva #mahadev #mahakal #harharmahadev #omnamahshivaya #blessings #happiness #peace #spiritual #love #devotion #positivity #goodvibes #freedom #life.

अगर किसी एक व्यक्ति में इस सृष्टि की सारी विशेषताओं का जटिल मिश्रण मिलता है तो वह शिव हैं। अगर आपने शिव को स्वीकार कर लिया तो आप जीवन से परे जा सकते हैं। शिव खुद जीवन हैं। कोई भी चीज उनमें घृणा नहीं पैदा कर सकती। वह हर चीज को, सबको अपनाते हैं। ऐसा वह किसी सहानुभूति, करुणा या भावनाओं के चलते नहीं करते, जैसा कि आप सोचते होंगे। वे सहज रूप से ऐसा करते हैं, क्योंकि वो जीवन की तरह हैं। जीवन सहज ही हरेक को गले लगाता व अपनाता है।समस्या सिर्फ आपके साथ है कि आप किसे अपनाएं व किसे छोड़ें और यह समस्या मानसिक समस्या है, न कि जीवन से जुड़ी समस्या। यहां तक कि अगर आपका दुश्मन भी आपके बगल में बैठा है तो आपके भीतर मौजूद जीवन को उससे भी कोई दिक्कत नहीं होगी। आपका दुश्मन जो सांस छोड़ता है, उसे आप लेते हैं। आपके दोस्त द्वारा छोड़ी गई सांसें आपके दुश्मन द्वारा छोड़ी गई सांसों से बेहतर नहीं होती है। दिक्कत सिर्फ मानसिक या कहें मनोवैज्ञानिक स्तर पर है। अस्तित्व के स्तर पर देखा जाए तो कोई समस्या नहीं है। अघोरी शिव - प्रेम और करुणा से भी परे एक अघोरी कभी भी प्रेम की अवस्था में नहीं रहता है। दुनिया के इस हिस्से की आध्यात्मिक प्रक्रिया ने कभी भी आपको प्रेम करना, दयालु या करुणामय होना नहीं सिखाया। यहां इन भावों को आध्यात्मिक नहीं, बल्कि सामाजिक माना जाता है। दयालु होना और अपने आसपास के लोगों को देखकर मुस्कुराना, पारिवारिक व सामाजिक शिष्टाचार है। एक इंसान में इतनी समझ तो होनी ही चाहिए, इसलिए यहां किसी ने सोचा ही नहीं कि ये चीजें भी सिखानी जरूरी हैं।एक अघोरी जब इस अस्तित्व को अपनाता है तो वह उससे प्रेम के चलते नहीं अपनाता, वह इतना सतही या कहें उथला नहीं है, बल्कि वह जीवन को अपनाता है। वह अपने भोजन और मल को एक ही तरह से देखता है। उसके लिए जिंदा और मरे हुए शरीर में कोई अंतर नहीं है। वह एक सजी संवरी देह और व्यक्ति को उसी भाव से देखता है, जैसे एक सड़े हुए शरीर को। इसकी सीधी सी वजह है कि वह पूरी तरह से जीवन बन जाना चाहता है। वह अपनी दिमागी या मानसिक सोचों के जाल में नहीं फंसना चाहता। PC: @byshounak Jai shiv shambhu ✨❤️👁🐂🕉📿🌸🏯🌀💖🗿🌷🙏🏻✨ #shiv #shankar #shambhu #shiva #mahadev #mahakal #harharmahadev #omnamahshivaya #blessings #happiness #peace #spiritual #love #devotion #positivity #goodvibes #freedom #life ...

देवों के देव महादेव को पंचदेवों का प्रधान कहा गया है। ये अनादि परमेश्वर हैं और आगम-निगम आदि शास्त्रों के अधिष्ठाता हैं। शिव ही संसार में जीव चेतना का संचार करते हैं। इस आधार पर दैवीय शक्ति के जीव तत्व को चेतन करने वाले स्वयं भगवान शिव, शक्ति के साथ इस समस्त जगत मंडल व ब्रह्मांड में अपनी विशेष भूमिका का निर्वहन करते हैं।
मृत्युंजयाय रुद्राय,
नीलकंठाय संभवै,
अमृतेशाय शर्वाय महादेवाय
ते नमो नम:।
मृत्युंजय महारुद्र त्राहिमाम
शरणागतम्,
जन्म-मृत्यु जरा व्याधि,
पीड़ितम कर्म बंधन:। अर्थात... मृत्यु को जय करने वाले भगवान महाशंभू को हम नमन करते हैं जिन्होंने नीलकंठस्वरूप को धारण करके संसार के समस्त गरल (विष) को शमन किया है। साथ ही मृत्यु को जीतने वाले महाशिव हम आपको साधना के साथ नमन करते हुए जन्म-मृत्यु के बंधन से पीड़ित अवस्था से मुक्त होकर आपसे प्रार्थना करते हैं कि आप हमें ज्ञान, वैराग्य सहित सांसारिक कर्म बंधन से मुक्ति का मार्ग प्रदान करें। कल्पांतरों के अंतर्गत ऐसे कई कल्प व युग बीत चुके हैं जिसमें भगवान शिव की प्रभुसत्ता विशेष रूप से दृश्य होती है। शिव महापुराण के अनुसार वेद के अधिष्ठात्र, ब्रह्माजी को वेद का ज्ञान कराने वाले और वेद ग्रंथ देने वाले स्वयं भगवान शिव ही हैं। वे ही साक्षात ईश्वर हैं जिन्होंने सृष्टि के तीनों अनुक्रमों को स्थापित किया है। शिव करते हैं जीव चेतना का संचार 
शिव ही संसार में जीव चेतना का संचार करते हैं। ब्रहमा द्वारा सृष्टि की उत्पत्ति का उल्लेख एवं सृष्टि का संचार क्रम शिव से है। शिव प्रथम, विष्णु द्वितीय तथा ब्रह्मा तृतीय स्थान पर हैं किंतु सांसारिक मान्यता में ब्रह्मा प्रथम, विष्णु द्वितीय तथा शिव तृतीय प्रलयंकारी के रूप में माने जाते हैं। शिव स्वरूप में समाया सारा संसार 
भगवान शिव के स्वरूप तथा क्रिया विधि के अंतर्गत जो स्थितियां सामने आती हैं, उसे देखें तो जिन्होंने वेद, पुराण के माध्यम से जगत को अपने ज्ञान तथा अध्यात्म से परिचय करवाया, ऐसे महाशिव एक सामान्य प्राणी को अपने विशिष्ट पद से लेकर आत्मा-परमात्मा का अनुभूत सिद्धांत प्रदान करते हैं। संसार सहित ब्रह्मांड के कालक्रम सिद्धांत के अनुसार संसार के भरण-पोषण आदि क्रम को वेदों के माध्‍यम से अन्य देवताओं की नियुक्तियों द्वारा संपादित करने की अवस्था का अनुक्रम दिया गया है।
Om namha shiva ✨❤️👁🐂🕉📿🌸🏯🌀💖🗿🌷🙏🏻✨
#shiv #shankar #shambhu #shiva #mahadev #mahakal #harharmahadev #omnamahshivaya #blessings #happiness #peace #spiritual #love #devotion #positivity #goodvibes.

देवों के देव महादेव को पंचदेवों का प्रधान कहा गया है। ये अनादि परमेश्वर हैं और आगम-निगम आदि शास्त्रों के अधिष्ठाता हैं। शिव ही संसार में जीव चेतना का संचार करते हैं। इस आधार पर दैवीय शक्ति के जीव तत्व को चेतन करने वाले स्वयं भगवान शिव, शक्ति के साथ इस समस्त जगत मंडल व ब्रह्मांड में अपनी विशेष भूमिका का निर्वहन करते हैं। मृत्युंजयाय रुद्राय, नीलकंठाय संभवै, अमृतेशाय शर्वाय महादेवाय ते नमो नम:। मृत्युंजय महारुद्र त्राहिमाम शरणागतम्, जन्म-मृत्यु जरा व्याधि, पीड़ितम कर्म बंधन:। अर्थात... मृत्यु को जय करने वाले भगवान महाशंभू को हम नमन करते हैं जिन्होंने नीलकंठस्वरूप को धारण करके संसार के समस्त गरल (विष) को शमन किया है। साथ ही मृत्यु को जीतने वाले महाशिव हम आपको साधना के साथ नमन करते हुए जन्म-मृत्यु के बंधन से पीड़ित अवस्था से मुक्त होकर आपसे प्रार्थना करते हैं कि आप हमें ज्ञान, वैराग्य सहित सांसारिक कर्म बंधन से मुक्ति का मार्ग प्रदान करें। कल्पांतरों के अंतर्गत ऐसे कई कल्प व युग बीत चुके हैं जिसमें भगवान शिव की प्रभुसत्ता विशेष रूप से दृश्य होती है। शिव महापुराण के अनुसार वेद के अधिष्ठात्र, ब्रह्माजी को वेद का ज्ञान कराने वाले और वेद ग्रंथ देने वाले स्वयं भगवान शिव ही हैं। वे ही साक्षात ईश्वर हैं जिन्होंने सृष्टि के तीनों अनुक्रमों को स्थापित किया है। शिव करते हैं जीव चेतना का संचार शिव ही संसार में जीव चेतना का संचार करते हैं। ब्रहमा द्वारा सृष्टि की उत्पत्ति का उल्लेख एवं सृष्टि का संचार क्रम शिव से है। शिव प्रथम, विष्णु द्वितीय तथा ब्रह्मा तृतीय स्थान पर हैं किंतु सांसारिक मान्यता में ब्रह्मा प्रथम, विष्णु द्वितीय तथा शिव तृतीय प्रलयंकारी के रूप में माने जाते हैं। शिव स्वरूप में समाया सारा संसार भगवान शिव के स्वरूप तथा क्रिया विधि के अंतर्गत जो स्थितियां सामने आती हैं, उसे देखें तो जिन्होंने वेद, पुराण के माध्यम से जगत को अपने ज्ञान तथा अध्यात्म से परिचय करवाया, ऐसे महाशिव एक सामान्य प्राणी को अपने विशिष्ट पद से लेकर आत्मा-परमात्मा का अनुभूत सिद्धांत प्रदान करते हैं। संसार सहित ब्रह्मांड के कालक्रम सिद्धांत के अनुसार संसार के भरण-पोषण आदि क्रम को वेदों के माध्‍यम से अन्य देवताओं की नियुक्तियों द्वारा संपादित करने की अवस्था का अनुक्रम दिया गया है। Om namha shiva ✨❤️👁🐂🕉📿🌸🏯🌀💖🗿🌷🙏🏻✨ #shiv #shankar #shambhu #shiva #mahadev #mahakal #harharmahadev #omnamahshivaya #blessings #happiness #peace #spiritual #love #devotion #positivity #goodvibes ...

Shiva is a paradoxical deity:

Shiva is a paradoxical deity: "both the destroyer and the restorer, the great ascetic and the symbol of sensuality, the benevolent herdsman of souls and the wrathful avenger." In the most famous myth concerning Shiva, he saves humanity by holding in his throat the poison that churned up in the waters and threatened mankind. For this reason he is often depicted with a blue neck. In the Vedas, shiva is an aspect of the god Rudra, not a separate god. However, a joint form Rudra-Shiva appears in early household rites, making Shiva one of the most ancient Hindu gods still worshipped today. By the 2nd century BCE, Rudra's significance began to wane and Shiva rose in popularity as a separate identity. In the Ramayana, Shiva is a mighty and personal god, and in the Mahabharata he is the equal of Vishnu and worshipped by other gods. Shiva became associated with generation and destruction; sometimes fulfilling the role of Destroyer along with Vishnu (the Preserver) and Brahma (the Creator) and sometimes embodying all three roles within himself. In the Mahadeva image in the Elephanta caves (on an island off of Bombay), which dates to between the 5th and 7th centuries CE, Shiva is shown in his threefold form. This triple aspect of Shiva, which has become a dominant form, is rich with symbolism: The two faces on either side represent (apparent) opposites - male and female (ardhanari); terrifying destroyer (bhairava) and active giver of repose; mahayogi and grhasta - while the third, serene and peaceful, reconciles the two, the Supreme as the One who transcends all contradictions. The three horizontal lines Saivites mark on their foreheads represent this threefold aspect of Shiva. 🌳🙏🌁🐍📿 PC @rudratheeternal Har Har Mahadev ✨❤️👁🐂🕉📿🌸🏯🌀💖🗿🌷🙏🏻✨ #shiv #shankar #shambhu #shiva #mahadev #mahakal #harharmahadev #omnamahshivaya #blessings #happiness #peace #spiritual #love #devotion #positivity #goodvibes #freedom #life #shiv #shankar #shambhu #shiva #mahadev #mahakal #harharmahadev #omnamahshivaya #blessings #happiness #peace #spiritual #love #devotion #positivity #goodvibes #freedom #life ...

Most Recent

এরা ভুলে যায়, কারে ছেড়ে কারে চায়।
তাই কেঁদে কাটে নিশি, তাই দহে প্রাণ,
তাই মান অভিমান,তাই এত হায় হায়।

এরা সুখের লাগি চাহে প্রেম, প্রেম মেলে না,
শুধু সুখ চলে যায়,এমনি মায়ার ছলনা।
.
.
.
.
.
.
.
.
.
.
.
#ganga #india #shiva #mahakal #photooftheday #travel #rishikesh #krishna #incredibleindia #mahadev #lordkrishna #river #x #varanasi #radhakrishna #iskcon #radhamadhava #rathyatra #haribol #murlidhar #radheradhe #vishnu #radhakrishn #harekrishna #rukmani #krsna #madhava #radharani #prabhupada #bhfyp.

এরা ভুলে যায়, কারে ছেড়ে কারে চায়। তাই কেঁদে কাটে নিশি, তাই দহে প্রাণ, তাই মান অভিমান,তাই এত হায় হায়। এরা সুখের লাগি চাহে প্রেম, প্রেম মেলে না, শুধু সুখ চলে যায়,এমনি মায়ার ছলনা। . . . . . . . . . . . #ganga #india #shiva #mahakal #photooftheday #travel #rishikesh #krishna #incredibleindia #mahadev #lordkrishna #river #x #varanasi #radhakrishna #iskcon #radhamadhava #rathyatra #haribol #murlidhar #radheradhe #vishnu #radhakrishn #harekrishna #rukmani #krsna #madhava #radharani #prabhupada #bhfyp ...

Glacier hai to kya, apan to Bhole se milkar rahega 😎
@sarlesh_jaiswal (commando)
.
.
.
.
#glacier #Hyderbad2kedarnath #delhi2kedarnath  #mahadev  #harharmahadev #shiva #bholenath #mahakaal #shiv #india #uttarakhand.

Glacier hai to kya, apan to Bhole se milkar rahega 😎 @sarlesh_jaiswal (commando) . . . . #glacier #Hyderbad2kedarnath #delhi2kedarnath #mahadev #harharmahadev #shiva #bholenath #mahakaal #shiv #india #uttarakhand ...

TOMORROW MONDAY
MEDITATION - TEACHING & PRACTICE
From 7:00 pm to 8:30 pm
Place: Our Center at Calabasas Highlands

Learn and experience the different ways of meditation of the Himalayan Tradition and the Teachings of Mahavatar Babaji thru Mother Shaktiananda.

Every Monday is different. The class have a brief theoretical approach, then practice of breathing techniques (breath work) and meditation.

You could be able to practice the meditation on your own the rest of the week.

It’s a beautiful way of self-knowledge and joint practice to start or strengthen your individual practice of meditation.

ALL PUBLIC - NO EXPERIENCE IS REQUIRED.
FREE ENTRY - DONATIONS ARE WELCOME.
LIMITED SEATS - RSVP IS REQUIRED.

CONTACT: california@evdsky.com or (310) 612-1691

#shaktima #shaktianandama #srimatajishaktiananda #escuelavaloresdivinos #evd #SKY #shivakriyayoga #kriyayoga #kriya #yoga #babaji #mahavatarbabaji #shiva #shakti #mahadev #sanatandharma #meditation #losangeles #calabasas #topanga #om #meditacion #veda #sabiduriavedica #vedicknowledge.

TOMORROW MONDAY MEDITATION - TEACHING & PRACTICE From 7:00 pm to 8:30 pm Place: Our Center at Calabasas Highlands Learn and experience the different ways of meditation of the Himalayan Tradition and the Teachings of Mahavatar Babaji thru Mother Shaktiananda. Every Monday is different. The class have a brief theoretical approach, then practice of breathing techniques (breath work) and meditation. You could be able to practice the meditation on your own the rest of the week. It’s a beautiful way of self-knowledge and joint practice to start or strengthen your individual practice of meditation. ALL PUBLIC - NO EXPERIENCE IS REQUIRED. FREE ENTRY - DONATIONS ARE WELCOME. LIMITED SEATS - RSVP IS REQUIRED. CONTACT: california@evdsky.com or (310) 612-1691 #shaktima #shaktianandama #srimatajishaktiananda #escuelavaloresdivinos #evd #SKY #shivakriyayoga #kriyayoga #kriya #yoga #babaji #mahavatarbabaji #shiva #shakti #mahadev #sanatandharma #meditation #losangeles #calabasas #topanga #om #meditacion #veda #sabiduriavedica #vedicknowledge ...